India’s Geography position and extend भारत का भूगोल स्थिति और विस्तार

India's Geography position and extend भारत का भूगोल स्थिति और विस्तार

India’s Geography position and extend भारत का भूगोल स्थिति और विस्तार, भारत का भूगोल या भारत का भौगोलिक स्वरूप से आशय भारत में भौगोलिक तत्वों के वितरण और इसके प्रतिरूप से है जो लगभग हर दृष्टि से काफी विविधतापूर्ण है| दक्षिण एशिया के तीन प्रायद्वीपों में से मध्यवर्ती प्रायद्वीपों पर स्थित यह देश अपने 32,87,263 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल के साथ विश्व का सातवाँ सबसे बड़ा देश है| साथ ही लगभग 1.3 अरब जनसँख्या के साथ यह पूरे विश्व में चीन के बाद दूसरा सबसे अधिक जनसँख्या वाला देश भी है|

भारत की भौगोलिक संरचना में लगभग सभी प्रकार के स्थलरुप पाए जाते हैं| एक ओर इसके उत्तर में विशाल हिमालय की पर्वतमालाएं है तो दूसरी ओर और दक्षिण में विस्तृत हिंन्द महासागर , एक ओर ऊँचा-नीचा और कटा-फटा दक्कन का पठार है तो वहीँ विशाल और समतल सिन्धु-गंगा-ब्रह्मपुत्र का मैदान भी है, थार के विस्तृत मरुस्थल में जहाँ विविध मरुस्थलीय स्थलरुप [पाए जाते हैं तो दूसरी ओर समुद्र तटीय भाग भी हैं| कर्क रेखा इसके लगभग बीच से गुजरती है और यहाँ लगभग हर प्रकार की जलवायु भी पायी जाती है| मिटटी , वनस्पति और प्राकृतिक संसाधनों की दृष्टी से भी भारत में काफी भौगोलिक विविधता है|

India’s Geography position and extend भारत का भूगोल स्थिति और विस्तार

प्राकृतिक विविधता ने यहाँ की जनजातीय विविधता और जनसँख्या के असमान वितरण के साथ मिलकर इसे आर्थिक,सामाजिक और सांस्कृतिक विविधता प्रदान की है| in सबके बावजूद यहाँ की ऐतिहासिक -सांस्कृतिक एकता इसे एक राष्ट्र के रूप में परिभाषित करती है| हिमालय द्वारा उत्तर में सुरक्षित और लगभग 7 हजार किलो मीटर लम्बी समुद्री सीमा के साथ हिन्द महासागर के उत्तरी शीर्ष पर स्थित भारत का भू-राजनैतिक महत्त्व भी बहुत बढ़ जाता है और इसे एक प्रमुख क्षेत्रीय शक्ति के रूप में स्थापित करता है|

भारत की निरपेक्ष अवस्थिति 8’4 उ. से  37’6 उ. अक्षांश तक और 68’7 पू. से 97’25 पू.  देशांतर के मध्य है| इसकी उत्तर से दक्षिण लम्बाई 3214 किमी और पूर्व से पश्चिम चौड़ाई 2933 कमी हैं| इसकी स्थलीय सीमा की लम्बाई 15200 किमी तथा समुद्र तट की लम्बाई 7517 किमी है| और कुल क्षेत्रफल 32,87,263 वर्ग किमी है|

India’s Geography position and extend भारत का भूगोल स्थिति और विस्तार

स्थिति तथा विस्तार-

भारत की स्थलीय सीमा उत्तर-पश्चिम में पाकिस्तान और अफगानिस्तान में लगती है, उत्तर में तब्बत (अब चीन का हिस्सा) और चीन तथा नेपाल और भूटान से लगी हुई है और पूर्व में बांग्लादेश तथा म्यामार से | बंगाल की खाड़ी में स्थित अंदमान व् निकोबार द्वीपसमूह और अरब सागर में स्थित लक्षदीप , भारत के द्वीपीय हिस्से है| इस प्रकार भारत की समुद्री सीमा दक्षिण-पश्चिम में मालदीव दक्षिण में श्री लंका और सुदूर पूर्व थाईलैंड और इंडोनेशिया से लगती है| पाकिस्तान, बांग्लादेश और म्यांमार के साथ भारत की स्थलीय सीमा और समुद्री सीमा दोनों जुडी हैं|

India's Geography position and extend भारत का भूगोल स्थिति और विस्तार
India’s Geography position and extend भारत का भूगोल स्थिति और विस्तार

भारत सबसे उत्तरी बिंदु इंदिरा कॉल और सबसे दक्षिण बिंदु इंदिरा पॉइंट तथा सबसे पूर्वी बिंदु किबिथू और सबसे पश्चिमी बिंदु सिर्क्रिक (गुजरात) है| मुख्य भूमि का सबसे दक्षिणी बिंदु कन्याकुमारी है| उत्तरतम बिंदु इंदिरा कॉल का नामकरण इसके खोजी बुलक वर्कमैन ने 1912 में भारतीय देवी लक्ष्मी के एक नाम इंदिरा के आधार पर किया और इसका इंदिरा गाँधी से कोई सम्बन्ध नहीं है|

India’s Geography position and extend भारत का भूगोल स्थिति और विस्तार

भारत विश्व की सबसे पुराणी सभ्यताओं में से एक है जिसमें बहुरंगी विविधता और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत है| इसके साथ ही यह अपने -आप को बदलते समय के साथ ढालती भी आई है| आजादी पाने के बाद भारत बहुआयामी सामाजिक और आर्थिक प्रगति की है| भारत कृषि में आत्मनिर्भर बन चूका है ,और अब दुनिया के सबसे औद्योगीकृत देशों की श्रेणी में भी इसकी गिनती की जाती है| साथ ही उन चंद देशों में भी इसका शुमार होने लगा है, जिनके कदम चाँद तक पहुँच चुके हैं|

भारत का क्षेत्रफल 32,87,263 वर्ग किमी है, जो हिमाच्छादित हिमालय की ऊँचाइयों से शुरू होकर दक्षिण के विषुवतीय वर्षा वनों तक फैला हुआ है| विश्व का सतावन बड़ा देश होने के नाते भारत शेष एशिया से अलग दिखता है जिसकी विशेषता पर्वत और समुद्र ने तय की है और ये इसे विशिष्ट भोगोलिक पहचान देते हैं| उत्तर में बृहत् पर्वत श्रृंखला हिमालय से घिरा यह कर्क रेखा से आगे संकरा होता जाता है | पूर्व में बंगाल की खाड़ी , पश्चिम में अरब सागर तथा दक्षिण में हिन्द महासागर इसकी सीमा निर्धारित करते हैं|

पूरी तरह उत्तरी गोलार्द्ध में स्थित भारत मुख्यभूमि 8 डिग्री 4 मिनट और 37 डिग्री 6 मिनट उत्तरी अक्षांश और 68 डिग्री 7 मिनट तथा 97 डिग्री 25 मिनट पूर्वी देशांतर के बीच स्थित है|उत्तर से दक्षिण तक इसकी कुल लम्बाई 3214 किमी हैं इसकी जमीनी सीमओं की लम्बाई लगभग 15,200 किमी है| जबकि मुख्य भूमि , लक्षद्वीप और अंदमान तथा निकोबार द्वीपसमूह की तटरेखा की कुल लम्बाई 7,516.6 किमी है|

India’s Geography position and extend भारत का भूगोल स्थिति और विस्तार

महत्वपूर्ण तथ्य

  1.  स्थान- हिमालय द्वारा भारतीय पेनिसुला का मुख्य भूमि एशिया से अलग किया गया है| देश पूर्व में बंगाल की खाड़ी , पश्चिम में अरब सागर और दक्षिण में हिन्द महासागर से घिरा हुआ है|
  2. भोगोलिक समन्वय- यह पूर्ण रूप से उत्तरी गोलार्द्ध में स्थित है, देश का विस्तार 8’4 और 37 ‘6 अक्षांश पर इक्वेटर के उत्तर में  और 68’7 और 97’25 देशांतर पर है|
  3. स्थायी मान समय- जी.एम्.टी. + 05:30
  4. क्षेत्र – 3.3 मिलियन वर्ग किलोमीटर
  5. देश का टेलीफोन कोड- +91
  6. सीमाओं में स्थित देश- उत्तर पश्चिम में अफगानिस्तान और पाकिस्तान, भूटान और नेपाल उत्तर में, म्यांमार पूर्व में, और पश्चिम बंगाल के पूर्व में बांग्लादेश | श्री लंका भारत से समुद्र के संकीर्ण नहर द्वारा अलग किया जाता है जो पाल्क स्ट्रेट और मन्नार की खाड़ी द्वारा निर्मित है|
  7. समुद्र तट- 7,516.6 किलो मीटर जिसमे मुख्या भूमि , लक्षद्वीप और अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह शामिल हैं|
  8. जलवायु- भारत की जलवायु को मौटे तौर पर उष्णकटिबंधीय मानसून के रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है परन्तु भारत का अधिकांश उत्तरी भाग उष्णकटिबंधीय क्षेत्र के बाहर होने के बावजूद समग्र देश में उष्णकटिबंधीय जलवायु है जिसमें उपेक्षाकृत उच्च तापमान और सूखी सर्दी पड़ती है|
  9. भूभाग- मुख्या भूमि में चार क्षेत्र हैं नामतः ग्रेट माउंटेन जॉन , गंगा और सिन्धु का मैदान , रेगिस्तान क्षेत्र और दक्षिणी पेनिसुला|
  10. प्राकृतिक संसाधन- कोयला, लौह अयस्क, मैगनीज अयस्क, माइका,बोक्साईट , पेट्रोलियम, टाइटेनियम अयस्क, क्रोमाईट, प्राकृतिक गैस, मैगनेसाईट , चूना पत्थर, अराबल लेंड , डोलोमाईट, माऊलिन , जिप्सम, अपाडाईट, फोसफोराईट, स्तीटाइल, फ्लोराईट आदि|
  11. प्रक्रितक आपदा- मानसूनी बाढ़, फ्लेश बाढ़, भूकंप, सूखा, जमीन खिसकना |
  12. पर्यावरण वर्तमान मुद्दे- वायु प्रदूषण नियंत्रण, ऊर्जा संरक्षण, ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, तेल और गैस संरक्षण ,वन संरक्षण आदि|
  13. भूगोल टिप्पणी- भारत दक्षिण एशिया उप महाद्वीप के बड़े भूभाग पर फैला हुआ है|

 

 

आप हमारे अन्य पोस्ट भी पढ़ सकते हैं–

1- UPSSSC Recruitment 2021 समूह ग के 50000 पदों पर भर्ती 

2-  Bank Sakhi Recruitmet 2021

3- C-TET Answer Key 2021 Out

4- Military Nursing Service 2021 सेना में 12वीं पास के लिए B.Sc नर्सिंग कोर्स रजिस्ट्रेशन शुरू

5- UP B.ED JEE Form 2021 यू.पी. बी.एड. प्रवेश परीक्षा के लिए ऐसे करें आवेदन

6- CCC Examination Online Form, Admit Card सीसीसी एक्जाम, प्रवेश पत्र

7- What is D.I.E.T. जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान

8- Deled Third Semester Books Pdf डी.एल.एड. तृतीय सेमस्टर किताब पीडीऍफ़

9-UP Deled Third Semester Paper PDF यू.पी. डी.एल.एड. तृतीय सेमेस्टर पेपर पीडीएफ 

10- UP Deled Fourth Semester Paper PDF यू.पी. डी.एल.एड. चतुर्थ सेमेस्टर पेपर पीडीएफ

 

अगर आप facebook, Twitter, whatsapp, Linkd In या किसी भी सोशल मीडिया एप्लीकेशन का प्रयोग करते हैं तो इस पोस्ट (India’s Geography position and extend भारत का भूगोल स्थिति और विस्तार) को वहां अपने मित्रों तक share जरूर करें | हमने इतना किया है तो आप  इतना तो कर ही सकते हैं|

धन्यवाद|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *