Meaning of Supervision पर्यवेक्षण एवं निरीक्षण तन्त्र

Meaning of Supervision पर्यवेक्षण एवं निरीक्षण तन्त्र, मित्रों आज की पोस्ट में हम बात करने वाले हैं की पर्यवेक्षण क्या होता है , ये कैसे होता है, इसकी क्या-क्या विशेषताएं होती हैं, पर्यवेक्षण की परिभाषा का क्या होती है ? यदि आप ये सब जानना चाहते हैं तो पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक जरूर पढ़ें और यदि आपको हमारा ये पोस्ट पसंद आये तो पोस्ट को लाइक और शेयर जरूर करें अपने मित्रों तक|

पर्यवेक्षण का अर्थ (Meaning of Supervision)

पर्यवेक्षण का अर्थ (Meaning of Supervision): पर्यवेक्षण शब्द अंग्रेजी भाषा के Supervision शब्द का पर्याय है| पर्यवेक्षण दो शब्द परि(Super)+ अवेक्षण (Vision) से मिलकर बना है । सुपर का अर्थ है असाधारण आलौकिक अथवा दिव्य होता है तथा विज़न दृष्टि अर्थात ऐसी दृष्टि जो दिव्य अथवा अत्यंत सूक्ष्म हो , यह पर्यवेक्षण के अंतर्गत आती है ।कुछ विद्वान पर्यवेक्षण को परीक्षण भी कहते हैं। जिसका अर्थ चारों और देखना है। किसी संस्था के चहुमुखी दिशाओं का ध्यान पूर्वक अवलोकन करना तथा विकास के लिए सुझाव देना ही पर्यवेक्षण कहा जाता है। अतएव पर्यवेक्षण एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके द्वारा दूसरे कार्यों का अवलोकन करके उन्हें उचित निर्देशन भी प्रदान करना है।

पर्यवेक्षण की प्रमुख परिभाषाएं निम्नलिखित हैं-

ऐडम्स तथा डिके(Adams and Dickey) के अनुसार “पर्यवेक्षण शिक्षण को सुधारने का एक सुनियोजित कार्यक्रम है।”

बार,बर्टन तथा ब्रूकनर(A.S. Bar, W.H. Burton & L.J. Bruckener) के अनुसार,” पर्यवेक्षण एक कुशल तकनीकी सेवा है जो उन अवस्थाओं का अध्ययन करने तथा उनमें उन्नति करने से संबंधित होती है जो सीखने तथा छात्र विकास के चारों ओर व्याप्त होती है।”

डब्ल्यू. किम्बाल(W. Kimball)  के अनुसार,” पर्यवेक्षण एक अच्छे शिक्षण एवं सीखने की परिस्थितियों के विकास में सहायक होता है।”

चेस्टर टी. मेकनर्वे(Cherster T. McNervey) के अनुसार,” पर्यवेक्षण शिक्षण प्रक्रिया का आलोचनात्मक मूल्यांकन करने तथा निर्देशन देने की एक विधि है| पर्यवेक्षण का अंतिम उद्देश्य छात्रों को उत्तम शिक्षण सेवा द्वारा सभी स्थानों पर योग्य बनाना होना चाहिए।”

फ्रेड सी. अय्यर( Fred C. Ayyar) के अनुसार ,”पर्यवेक्षण समस्त शैक्षिक प्रयासों में सर्वश्रेष्ठ तथा गत्यात्मक है| यह अत्यंत श्रेष्ठ इसलिए है क्योंकि यह सर्वाधिक सृजनात्मक है।”

“पर्यवेक्षण शिक्षकों की वैयक्तिक योग्यताओं की अभिवृद्धि में सहायक होता है| यह एक ऐसी विशिष्ट सेवा है जो छात्रों को समझने तथा छात्रों का चहुमुखी विकास करने में सहायक सिद्ध होती है|”

वास्तव में पर्यवेक्षण का आधुनिक प्रत्यय शिक्षण सामग्री की उन्नति करने की प्रक्रिया से ही प्रारंभ होता है तथा इसके अंतर्गत शिक्षकों की कार्य क्षमता की अभिवृद्धि की ओर अधिकाधिक ध्यान आकर्षित किया जाता है| आधुनिक शैक्षिक पर्यवेक्षण की कुछ ऐसी विशेषताएं हैं जिन्हें स्पष्ट करना आवश्यक प्रतीत होता है।

Meaning of Supervision पर्यवेक्षण एवं निरीक्षण तन्त्र
Meaning of Supervision पर्यवेक्षण एवं निरीक्षण तन्त्र

पर्यवेक्षण की विशेषताएं (Characteristics of Supervision)

पर्यवेक्षण की विशेषताएं जनतांत्रिक प्रणाली के अनुकूल है| इस प्रकार के पर्यवेक्षण द्वारा छात्रों की तथा अध्यापकों के व्यक्तित्व का अधिक विकास किया जा सकता है| कुछ विशेषताएं निम्नलिखित है –

1-सहयोग की भावना(Co-operative): पर्यवेक्षण से सहयोग की भावना पर अधिक बल दिया जाता है| इसके अंतर्गत शिक्षक एवं प्रधानाचार्य तथा अन्य पर्यवेक्षक मिल-जुल कर समस्या का समाधान करते हैं| प्रक्रिया से कार्यकर्ताओं में आत्मविश्वास में वृद्धि होती है| पर्यवेक्षण द्वारा शिक्षकों को सहयोग देने के लिए उत्साहित किया जाता है।

2-अधिक जनतांत्रिक तथा अभिव्रत्यात्मक(More Democratic and Attitudinal): जनतंत्र के मुख्य सिद्धांत, “सामना, स्वतंत्रता, भ्रात्रभाव आदि  हैं| पर्यवेक्षण में समानता तथा स्वतंत्रता के अवसर प्रदान किए जाते हैं| वास्तव में यह पर्यवेक्षण भय मुक्त तथा आशंकायुक्त होता है| इसके अंतर्गत पर्यवेक्षक का रूप भयावह तथा आतंककारी ना होकर सौहार्द पूर्ण अधिक होता है| यह पर्यवेक्षक आधुनिक प्रवृत्तियों पर आधारित है| विद्यालय को आजकल एक लघु समाज कहा जाता है| विद्यालय रूपी समाज में जनतांत्रिक जनतंत्रामक प्रणाली के अनुरूप ही शिक्षा के उद्देश्य तथा शिक्षण विधि में परिवर्तन करना, आदि की ओर पर्यवेक्षण सजग रहता है| पर्यवेक्षण में सहयोगात्मक भावना व्याप्त होने के कारण छात्रों तथा शिक्षकों की विभिन्न प्रवृत्तियों का अधिकाधिक विकास करना, पर्यवेक्षण सजग रहता है| पर्यवेक्षण में सहयोगात्मक भावना व्याप्त होने के कारण छात्रों तथा शिक्षकों की विभिन्न प्रवृत्तियों को उचित रूप में विकसित करने के पर्याप्त अवसर प्रदान किए जाते हैं।

3-वैज्ञानिक विधि(Scientific method): पर्यवेक्षण प्राचीन तथा परंपरागत विधियों में विश्वास नहीं रखता| इसके अंतर्गत जो विधि अथवा नवीन पद्धति बनाई जाती है वह पूर्णतया परीक्षित तथा विश्वसनीय होती है| पर्यवेक्षण में वैज्ञानिक विधि को अपनाया जाता है| इस पर्यवेक्षण के विभिन्न कार्यक्रम में “समस्या का चयन तत्वों का संकलन तथा वर्गीकरण संभावित विधियों का चयन परिकल्पना का निर्माण व्याख्या तथा सामान्यीकरण|”

आदि वैज्ञानिक विधि के सोपानों पर अधिक ध्यान दिया जाता है| पर्यवेक्षण के किसी भी कार्य में शीघ्रता नहीं की जाती अपितु प्रत्येक कार्य में गंभीर विचार तथा गहन को अपनाया जाता है।

हमारे अन्य महत्वपूर्ण पोस्ट
Creative Children Circumstances And Solution सृजनात्मक बच्चे समस्या और समाधान Click Here
Mental Retarded Children’s मंदबुद्धि बच्चे Click Here
Socially Maladjusted Children सामाजिक असमायोजित बालक Click Here
Health Impaired Children स्वास्थ्य बाधित बच्चे Click Here
Slow learner Children धीमी गति से सीखने वाले बच्चे Click Here
Meaning of Backward Children पिछड़े बालकों से अभिप्राय Click Here
Type of children of educational Inclusion | Gifted Children | प्रतिभाशाली बच्चे Click Here
BTC/Deled 2021 Exam Date Confirm Click Here
Official Website Click Here
Join Us on Youtube Click Here

 

दोस्तों यदि आपको हमारा यह पोस्ट(Meaning of Supervision पर्यवेक्षण एवं निरीक्षण तन्त्र) पसंद आया हो और आपकी जरूरत है इस पोस्ट के द्वारा यदि पूरी हुई हो तो आप इस पोस्ट को अपने किसी भी मित्र के साथ शेयर कर सकते हैं शेयर करने के बहुत सारे सामाजिक एप्लीकेशन बनाए गए हैं जैसे फेसबुक, व्हाट्सएप ,लिंक्ड इन  ट्विटर किसी भी माध्यम से आप इसे शेयर कर सकते हैं | शेयर करने के लिए हमने नीचे लिंक भी दिया गया है आप उस शेयर के लिंक पर क्लिक करके अपने सभी दोस्तों और रिश्तेदारों और पड़ोसियों को इस पोस्ट को शेयर कर सकते हैं |आपके शेयर करने से हमें खुशी होगी और आगे कार्य करने में और भी आनंद आएगा| आपका साथ हमेशा ऐसे ही बना रहे तो हम ऐसे ही अच्छे अच्छे पोस्ट आपके लिए लाते रहेंगे बहुत-बहुत धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *