Defination of Folklore लोककथा किसे कहते हैं , deled द्वितीय सेमेस्टर aopadhen

Defination of Folklore लोककथा किसे कहते हैं , deled द्वितीय सेमेस्टर aopadhen मित्रों आपने भी बहुत सारी लोककथाएं सुनी होंगी लेकिन अगर बात की जाय की लोककथा कहते किसे हैं तो लोग चुप हो जाते हैं , तो आज हम यही चर्चा करने वाले हैं की लोककथा आखिरकार कहते किसे हैं अगर आप भी जानना चाहते हैं तो पोस्ट को पूरा जरूर पढियेगा| तो चलिए आगे बढ़ते हैं|

लोककथा

लोककथा से तात्पर्य किसी क्षेत्र -विशेष में जनश्रुतियों के माध्यम से चली आ रहीं कथाएं हैं| इनका अस्तित्व पुराणी पीढ़ी से नयी पीढ़ी तक किवदंती जनश्रुतियों के माध्यम से ही पहुंचता है| ये कथाएं वे कहानियां हैं जो मनुष्य की कथा प्रवृत्ति के साथ चलकर विभिन्न परिवर्तनों एवं परिवर्धनों के साथ वर्त्तमान रूप से प्राप्त होती हैं|

महत्वपूर्ण बात यह हैं की कुछ निश्चित कथानक रूढ़ियों और शैलियों में ढली लोककथाओं के अनेक संस्करण, उसके नित्य नयी प्रवृत्तियों और चरितों से युक्त होकर विकसित होने के प्रमाण हैं| एक ही कथा विभिन्न सन्दर्भों और अंचलों में बदलकर अनेक रूप ग्रहण करती है|

परिभाषा(Defination of Folklore)

“लोककथाएं वे कहानियां हैं जो मनुष्य की कथा प्रवृत्ति के साथ चलकर विभिन्न परिवर्तनों एवं परिवर्धनों के साथ वर्त्तमान रूप से प्राप्त होती हैं|

जैसे- सिंहासन बत्तीसी,बेताल पच्चीसी , पञ्च तंत्र

Defination of Folklore लोककथा किसे कहते हैं , deled द्वितीय सेमेस्टर aopadhen
Defination of Folklore लोककथा किसे कहते हैं , deled द्वितीय सेमेस्टर aopadhen

लोककथाओं की प्राचीनता

कथाओं की प्राचीनता ओ=को ढूँढते हुए अन्वेषक ऋग्वेद के उन सूक्तों तक पहुंचकर रुक गए हैं जिनमें कथोपकथन के माध्यम से “संवाद-सूक्त” कहे गए हैं| पीछे ब्राह्मण ग्रंथों में भे उनकी परंपरा विद्यमान है| यही क्रम उपनिषदों में भी मिलता है, किन्तु इन सबसे पूर्व कोई कथा, कहानी थी ही नहीं, ऐसा नहीं कहा जा सकता| प्रश्न उठता है , जो प्रथाएं उन सब में आइ हैं उनका उद्गम कहाँ है? जहाँ उनका उद्गम होगा लोककथाओं का भी वही आरंभिक स्थान माना जाना चाहिए|

पंचतंत्र की बहुत सी कथाएं लोककथाओं के रूप में जन-जीवन में प्रचलित हैं, किन्तु यह भी सही है की जीतनी कथाएं लोक जीवन में मिल जाती हैं उतनी पंचतंत्र में भी नहीं मिलतीं|जातक कथाओं को अत्यधिक प्राचीन मन जाता है, इनकी संख्या ५५० के लगभग है| किन्तु लोककथाओं की कोई निर्धारित संख्या नहीं है|

लोककथाओं के भेद

  1. उपदेशात्मक कथाएं
  2. सामाजिक कहानियां
  3. धार्मिक लोककथाएं
  4. प्रेमप्रधान लोककथाएं
  5. मनोरंजन सम्बन्धी कथाएं
  6. जातीय पात्रों पर आधारित लोककथाएं

लोककथा सुनना

क्षेत्र-विशेष में प्रचलित जनश्रुति आधारित कथाओं को लोककथा कहा जाता है| ये लोककथाएं दन्त कथाओं के रूप में एक पीढ़ी से अगली पीढ़ी में प्रचलित होती आई हैं| हमारे देश में और दुनिया में छोटा-बड़ा शायद ही कोई ऐसा हो , जिसे लोककथाओं के पढ़ने य सुनने में रूचि ना हो| हमारे देहात में अभी भी चौपाल पर गाँववासी बड़े ही रोचक ढंग से लोककथाएं सुनते-सुनाते हैं| हमारे यहाँ भारत के विभिन्न राज्यों में प्रचलित लोककथाएं संकलित करने का प्रयास किया है|

जब भी हम ‘लोक’ की बात करते हैं तो हमारा ध्यान अनायास ही उस सोदूर अंचल की और चला जाता है ,जहाँ हम पले-बढ़ें होते हैं? जहाँ हमारा विकास हुआ है अथवा जिस समुदाय को हम जानना -समझना चाहते हैं, उस समुदाय का एक ऐसा चित्र हमारे सामने उपस्थित होने लगता है|

Defination of Folklore लोककथा किसे कहते हैं , deled द्वितीय सेमेस्टर aopadhen

Defination of Folklore लोककथा किसे कहते हैं , deled द्वितीय सेमेस्टर aopadhen
Defination of Folklore लोककथा किसे कहते हैं , deled द्वितीय सेमेस्टर aopadhen

रोचक प्रसंग

महान कौन?

एक वर देवर्षि नारद के मन में यह जानने की इच्छा हुई की पूरे ब्रह्माण्ड में सबसे महान कौन है? वे बैकुंठ लोक गए| उन्होंने वहां प्रभु से प्रश्न किया , हे प्रभु! इस प्रथ्वी पर सबसे महान कौन है ? प्रभु ने मुस्कुराते हुए उत्तर दिया , नारद जी! सबसे बड़ी तो यह पृथ्वी दिखती है |इसलिए हम पृथ्वी को इसकी संज्ञा दे सकते हैं| दूसरी ओर उसे समुद्र ने घेर रखा है|

इस कारण समुद्र उससे भी बड़ा सिद्ध हुआ | एक बार इस समुद्र को भी अगस्त्य मुनि ने पी लिया था| इस कारण समुद्र कैसे बड़ा हो सकता है| ऐसी स्थिति में अगस्त्य मुनि समसे बड़े हुए| लेकिन उनका वास कहाँ है? अनंत आकाश के एक सीमित भाग में, मात्र बिंदु के समान एक जुगुनू की तरह चमक रहे हैं| इस प्रकार आकाश उनसे बड़ा साबित हुआ?

वामन अवतार में विष्णु भगवान् ने इस आकाश को भी एक पग में नाप लिया था | इस तरह विष्णु ही सबसे महान सिद्ध होते हैं| फिर भी नारद , विष्णु भी सर्वधीन महान नहीं हैं| इसकी वजह यह है कि वे हमेशां आपके ह्रदय में अंगूठे जीतनी जगह में ही विराजते हैं; अतः इसलिए सबसे महान आप सिद्ध हुए|

मित्रों हमारे अन्य पोस्ट पढ़ने के लिए यहाँ नीचे दिये हुए लिंक पर क्लिक करें-

मित्रों अगर आप हमारे साथ हमारे यूट्यूब चेनल से जुड़ना चाहते हैं तो नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करे

 www.youtube/Aopadhen

Defination of Folklore लोककथा किसे कहते हैं , deled द्वितीय सेमेस्टर aopadhen के बारे में आपको पूरी जनकरी ऊपर दी है मित्रों आपको हमारा पोस्ट पसंद आया हो तो आप इसे सोश्ल मीडिया Facebook, Whatsapp के द्वारा अपने मित्रों को साझा कर सकते हैं। और अपने सुझाव और शिकायत हमें कमेंट करें जिससे कि हम अपनी गलतियों को सुधार सकें इसके लिए हमें आपके सहयोग कि जरूरत रहेगी धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *